Google Input Tools क्या है, हिंदी टाइपिंग में गूगल इनपुट टूल का उपयोग कैसे कर सकते हैं – News Hind

Google Input Tools क्या है

Google Input Tools क्या है नमस्कार दोस्तों, आज हम हमारी इस पोस्ट के माध्यम से आपको गूगल इनपुट टूल के बारे में बताएंगे। Google Input Tools क्या है, और आप गूगल इनपुट टूल का उपयोग हिंदी टाइपिंग में कैसे कर सकते हैं। 

अगर आपको इसके बारे में कोई विशेष जानकारी नहीं है, तो आप हमारी इस पोस्ट को ध्यान पूर्वक पढ़ते रहिए। हम आपको हमारी हम इस पोस्ट के माध्यम से गूगल इनपुट टूल के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं। 

जब भी अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में हिंदी भाषा में टाइपिंग करने की कोशिश करते हैं, और टाइपिंग करना चाहते हैं, तो कर नहीं पाते हैं। क्योंकि कंप्यूटर और लैपटॉप के कीबोर्ड को अंग्रेजी भाषा के आधार पर तैयार किया जाता है। 

लेकिन आज हम आपको इस बार इसके समाधान के बारे में बताने वाले हैं। जिसके बाद आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में अंग्रेजी कीबोर्ड पर भी हिंदी या अपनी किसी भी क्षेत्रीय भाषा में टाइपिंग कर पाएंगे। 

हम Google Input Tools की बात कर रहे हैं, जिसका उपयोग करके आप किसी भी भाषा में टाइपिंग कर सकते हैं। तो आपको बताते हैं, कि गूगल इनपुट टूल्स क्या है, और इसका उपयोग करके आप किसी भी भाषा में कैसे टाइपिंग कर सकते हैं। 

Google Input टूल क्या है- 

Google Input Tools अलग-अलग भाषाओं में टाइपिंग के लिए गूगल द्वारा बनाया गया एक टाइपिंग टूल है। Google Input टूल में उपलब्ध 90 भाषाओं में बड़ी ही आसानी से टाइपिंग को किया जा सकता है। गूगल का यह इनपुट टूल अंग्रेजी कीबोर्ड के भाषा में टाइप किए गए वाक्यों को इसमें उपलब्ध भाषाओं में से किसी भी भाषा में बदला जा सकता है। 

उदाहरण के लिए जब हमें हिंदी में “ तुम कहां जा रहे हो ” वाक्य को लिखना हो, तो गूगल इनपुट टूल में अंग्रेजी कीबोर्ड से हमें “ Tum Kaha Ja Rahe Ho ” टाइप करना होता है। आमतौर पर जब लोगों को हिंदी भाषा में टाइपिंग करनी होती है, तो वे हिंदी Kruti dev Font और Unicode Mangal font का उपयोग करके हिंदी में कुछ टाइपिंग कर लेते हैं।

 लेकिन जब किसी अन्य क्षेत्रीय भाषा जैसे पंजाबी, गुजराती, तमिल, तेलुगू और मराठी आदि में टाइप करना हो तो बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इसके बाद भी अंग्रेजी कीबोर्ड से तो इन भाषाओं में टाइपिंग बिल्कुल भी नहीं की जा सकती है। 

क्षेत्रीय भाषाओं में टाइपिंग करने में होने वाली परेशानियों के समाधान के रूप में गूगल ने “ गूगल इनपुट टूल ” को शुरू किया है। जिससे इसमें उपलब्ध 90 भाषाओं में बड़ी ही आसानी से टाइपिंग को किया जा सकता है। 

Google Input टूल डाउनलोड कैसे करें – 

गूगल के द्वारा कंप्यूटर और लैपटॉप के लिए गूगल इनपुट टूल के 2 वर्जन लांच किए गए हैं। जिसमें एक “ गूगल इनपुट टूल ऑफलाइन ” और दूसरा “ गूगल इनपुट टूल ऑनलाइन ” है। इसके अलावा गूगल ने एंड्रॉयड यूजर्स के लिए भी गूगल इनपुट टूल का एक ऐप शुरू किया है। 

यूजर्स के द्वारा गूगल क्रोम ब्राउजर में गूगल इनपुट टूल का एक्सटेंशन भी डाउनलोड किया जा सकता है। Google Input टूल ऑनलाइन – जब कभी भी इंटरनेट पर काम करते वक्त कोई छोटा पैराग्राफ टाइप करना हो, तो इसके लिए गूगल  इनपुट के ऑनलाइन टूल का उपयोग किया जा सकता है। 

इसके लिए Google Input Online Tool वेबसाइट पर जाकर अपनी भाषा का चयन करने के बाद टाइपिंग कर सकते हैं। 

Google Input टूल ऑफलाइन – 

जब कभी भी बड़े-बड़े पैराग्राफ्स को टाइप करना होता है तो इसके लिए गूगल इनपुट के ऑफलाइन टूल का उपयोग किया जाता है। इसके लिए गूगल इनपुट ऑफलाइन टूल को कंप्यूटर में डाउनलोड करके इंस्टॉल करना होता है। 

इसके बाद इस में उपस्थित 90 भाषाओं में से किसी भी भाषा में टाइपिंग की जा सकती है। Google Input Tools का उपयोग Windows ऑपरेटिंग सिस्टम के सभी प्रकार के वर्जन में किया जा सकता है। 

जिसमें – Windows XP, Windows 7, Windows Vista, Windows 8 तथा Windows 10 जैसी सभी प्रकार की विंडोज वर्जन शामिल है। गूगल इनपुट टूल्स सॉफ्टवेयर को इंटरनेट से डाउनलोड करके अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल कर सकते हैं। 

Google Input टूल एंड्राइड – 

इंटरनेट और स्मार्टफोंस के दिन प्रतिदिन बढ़ते हुए प्रभाव के कारण गूगल नेम गूगल इनपुट टूल्स को मोबाइल के लिए भी तैयार किया है। जिसका उपयोग सोशल मीडिया जैसे व्हाट्सएप फेसबुक पर क्षेत्रीय भाषाओं में टाइपिंग के लिए किया जा सकता है। 

स्मार्टफोंस की लोकप्रियता को बढ़ते देख Google ने google input tool को Mobile के लिए भी पूर्ण रूप से तैयार किया है। 

➤ एंड्राइड वर्जन को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर पर जाएं और वहां पर गूगल इनपुट टूल्स ऐप को सर्च करें। 

➤ सबसे ऊपर के गूगल इनपुट टूल को डाउनलोड करके इंस्टॉल कर ले। इसके बाद इसमें अपनी लैंग्वेज को सिलेक्ट करके सिलेक्टेड लैंग्वेज में टाइपिंग की जा सकती है। 

Google Input टूल एक्सटेंशन – 

यूजर्स के द्वारा अपने क्रोम ब्राउज़र में गूगल इनपुट टूल के chrome-extension को डाउनलोड करके इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट पर इस में उपलब्ध भाषाओं में टाइपिंग की जा सकती है। 

Google Input टूल के फायदे – 

➤ गूगल इनपुट डिवाइस का सबसे बड़ा फायदा यह है, कि इसमें 90 से अधिक भाषाएं शामिल है, जिनमें से किसी भी भाषा में बड़ी आसानी से टाइपिंग की जा सकती है। 

➤ गूगल इनपुट टूल उन क्षेत्रीय भाषा वाले ब्लॉगर्स के लिए भी बहुत ही ज्यादा उपयोगी है, जिन्हें अपनी क्षेत्रीय भाषा में टाइपिंग करना नहीं आता है। वे लोग गूगल इनपुट टूल के मदद से अपनी क्षेत्रीय भाषा में आसानी से टाइपिंग कर सकते हैं। 

➤ कंप्यूटर और लैपटॉप आदि में उपयोग होने वाले कीबोर्ड अंग्रेजी भाषा के आधार पर तैयार किए जाते हैं। इसलिए उन पर अन्य किसी भाषा में टाइपिंग करना कठिन हो जाता है। इसलिए गूगल इनपुट टूल की मदद से अंग्रेजी भाषा वाले कीबोर्ड से भी अन्य भाषाओं में टाइपिंग की जा सकती है। 

निष्कर्ष 

हमने आपको आज की पोस्ट के माध्यम से Google Input Tools के बारे में बताया है, कि Google Input Tools क्या है, और आप गूगल इनपुट टूल का उपयोग हिंदी टाइपिंग में कैसे कर सकते हैं। इसी प्रकार के टेक्नोलॉजी से रिलेटेड और अधिक जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट के साथ जुड़े रहे।

Leave a Comment